शोभना सम्मान-2012

Wednesday, December 5, 2012

राजपूत जातियों की सूची

क्रमांक नाम गोत्र वंश स्थान और जिला

1 सूर्यवंशी कश्यप् सूर्य बुलन्दशहर आगरा मेरठ अलीगढ

2 गुहिलवन्शी गहलोत बैजपायण सूर्य मथुरा कानपुर और पूर्वी जिले
3 गुहिलवन्शी सिसोदिया बैजपायन् , सूर्य महाराणा उदयपुर स्टेट
4 कछवाहा मानव्य् सूर्य महाराजा जयपुर और ग्वालियर राज्य
5 राठोड कश्यप, सूर्य जोधपुर बीकानेर और पूर्व और मालवा
6 सोमवंशी अत्रैय चन्द प्रतापगढ और जिला हरदोई
7 यदुवंशी अत्रैय चन्द राजकरौली राजपूताने में
8 भाटी अत्रय जादौन महारजा जैसलमेर राजपूताना
9 जडेजा अत्रय यदुवंशी महाराजा कच्छ भुज
10 जादवा अत्रय जादौन अवा. कोटला ऊमरगढ आगरा
11 तन्वर व्याघ्र चन्द पाटन के राव तंवरघार जिला ग्वालियर
12 कटियार व्याघ्र तोंवर धरमपुर का राज और हरदोई
13 पालीवार व्याघ्र तोंवर गोरखपुर
14 परिहार कौशल्य अग्नि मंडोर (जोधपुर) एवं मध्यप्रदेश
15 तखी कौशल्य परिहार पंजाब कांगडा जालंधर जम्मू में
16 पंवार वशिष्ठ अग्नि मालवा मेवाड धौलपुर पूर्व मे बलिया
17 सोलंकी भारद्वाज अग्नि राजपूताना मालवा सोरों जिला एटा
18 चौहान वत्स अग्नि राजपूताना पूर्व और सर्वत्र
19 बिष्ट भारद्वाज अग्निवंशी, सूर्यवंशी प्राचीन में राजपूताना, यू.पी.
20 बिष्ट शान्डिल्य अग्निवंशी, सूर्यवंशी प्राचीन राजपूताना और यू.पी.
21 हाडा वत्स चौहान कोटा बूंदी और हाडौती देश
22 खींची वत्स चौहान खींचीवाडा मालवा ग्वालियर
23 भदौरिया वत्स चौहान नौगंवां पारना आगरा इटावा गालियर
24 देवडा वत्स चौहान राजपूताना सिरोही राज
25 शम्भरी वत्स चौहान नीमराणा रानी का रायपुर पंजाब
26 बच्छगोत्री वत्स चौहान प्रतापगढ सुल्तानपुर
27 राजकुमार वत्स चौहान दियरा कुडवार फ़तेहपुर जिला
28 पवैया वत्स चौहान ग्वालियर
29 गौर ,गौड भारद्वाज सूर्य शिवगढ रायबरेली कानपुर लखनऊ
30 वैस भारद्वाज चन्द्र उन्नाव रायबरेली मैनपुरी पूर्व में
31 गेहरवार कश्यप सूर्य माडा हरदोई उन्नाव बांदा पूर्व
32 सेंगर गौतम ब्रह्मक्षत्रिय जगम्बनपुर भरेह इटावा जालौन
33 कनपुरिया भारद्वाज ब्रह्मक्षत्रिय पूर्व में राजाअवध के जिलों में हैं
34 बिसैन वत्स ब्रह्मक्षत्रिय गोरखपुर बलिया गोंडा प्रतापगढ में हैं
35 निकुम्भ वशिष्ठ सूर्य गोरखपुर आजमगढ हरदोई जौनपुर
36 सिरसेत भारद्वाज सूर्य गाजीपुर बस्ती गोरखपुर
37 च्चाराणा दहिया चन्द जालोर, सिरोही केर्, घटयालि, साचोर, गढ बावतरा,
38 कटहरिया वशिष्ठ सूर्य बरेली बंदायूं मुरादाबाद शहाजहांपुर
39 वाच्छिल अत्रयवच्छिल चन्द्र मथुरा बुलन्दशहर शाहजहांपुर
40 बढगूजर वशिष्ठ सूर्य अनूपशहर एटा अलीगढ मैनपुरी मुरादाबाद हिसार गुडगांव जयपुर
41 झाला मरीच कश्यप चन्द्र धागधरा मेवाड झालावाड कोटा
42 गौतम गौतम ब्रह्मक्षत्रिय राजा अर्गल फ़तेहपुर
43 रैकवार भारद्वाज सूर्य बहरायच सीतापुर बाराबंकी
44 करचुल हैहय कृष्णात्रेय चन्द्र बलिया फ़ैजाबाद अवध
45 चन्देल चान्द्रायन चन्द्रवंशी गिद्धौर कानपुर फ़र्रुखाबाद बुन्देलखंड पंजाब गुजरात
46 जनवार कौशल्य सोलंकी शाखा बलरामपुर अवध के जिलों में
47 बहरेलिया भारद्वाज वैस की गोद सिसोदिया रायबरेली बाराबंकी
48 दीत्तत कश्यप सूर्यवंश की शाखा उन्नाव बस्ती प्रतापगढ जौनपुर रायबरेली बांदा
49 सिलार शौनिक चन्द्र सूरत राजपूतानी
50 सिकरवार भारद्वाज बढगूजर ग्वालियर आगरा और उत्तरप्रदेश में
51 सुरवार गर्ग सूर्य कठियावाड में
52 सुर्वैया वशिष्ठ यदुवंश काठियावाड
53 मौर्य गौतम सूर्य बिहार, उत्तर प्रदेश, राजस्थान
54 टांक (तत्तक) शौनिक नागवंश मैनपुरी और पंजाब
55 गुप्त गार्ग्य चन्द्र अब इस वंश का पता नही है
56 कौशिक कौशिक चन्द्र बलिया आजमगढ गोरखपुर
57 भृगुवंशी भार्गव चन्द्र वनारस बलिया आजमगढ गोरखपुर
58 गर्गवंशी गर्ग ब्रह्मक्षत्रिय नृसिंहपुर सुल्तानपुर , मार्टींनगँज आजमगढ
59 पडियारिया , देवल ब्रह्मक्षत्रिय राजपूताना
60 ननवग कौशल्य चन्द्र जौनपुर जिला
61 वनाफ़र पाराशर, कश्यप चन्द्र बुन्देलखन्ड बांदा वनारस
62 जैसवार कश्यप यदुवंशी मिर्जापुर एटा मैनपुरी
63 नैय्दु वैक्ला सूर्य दक्षिण मद्रास तमिलनाडु अन्ध्र कर्नाटक में
64 निमवंशी कश्यप सूर्य संयुक्त प्रांत
65 वैनवंशी वैन्य सोमवंशी मिर्जापुर
66 दाहिमा गार्गेय ब्रह्मक्षत्रिय काठियावाड राजपूताना
67 पुण्डीर कपिल ब्रह्मक्षत्रिय पंजाब गुजरात रींवा यू.पी.
68 तुलवा आत्रेय चन्द्र राजाविजयनगर
69 कटोच कश्यप भूमिवंश राजानादौन कोटकांगडा
70 चावडा,पंवार,चोहान,वर्तमान कुमावत वशिष्ठ पंवार की शाखा मलवा 
रतलाम उज्जैन गुजरात मेवाड
71 अहवन वशिष्ठ चावडा, कुमावत खेरी हरदोई सीतापुर बारांबंकी
72 डौडिया वशिष्ठ पंवार शाखा बुलंदशहर मुरादाबाद बांदा मेवाड गल्वा पंजाब
73 गोहिल बैजबापेण गहलोत शाखा काठियावाड
74 बुन्देला कश्यप गहरवारशाखा बुन्देलखंड के रजवाडे
75 काठी कश्यप गहरवारशाखा काठियावाड झांसी बांदा
76 जोहिया पाराशर चन्द्र पंजाब देश मे
77 गढावंशी कांवायन चन्द्र गढावाडी के लिंगपट्टम में
78 मौखरी अत्रय चन्द्र प्राचीन राजवंश था
79 लिच्छिवी कश्यप सूर्य प्राचीन राजवंश था
80 बाकाटक विष्णुवर्धन सूर्य अब पता नहीं चलता है
81 पाल कश्यप सूर्य यह वंश सम्पूर्ण भारत में बिखर गया है
82 सैन अत्रय ब्रह्मक्षत्रिय यह वंश भी भारत में बिखर गया है
83 कदम्ब मान्डग्य ब्रह्मक्षत्रिय दक्षिण महाराष्ट्र मे हैं
84 पोलच भारद्वाज ब्रह्मक्षत्रिय दक्षिण में मराठा के पास में है
85 बाणवंश कश्यप असुरवंश श्री लंका और दक्षिण भारत में,कैन्या जावा में
86 काकुतीय भारद्वाज चन्द्र, प्राचीन सूर्य था अब पता नही मिलता है
87 सुणग वंश भारद्वाज चन्द्र, पाचीन सूर्य था अब पता नही मिलता है
88 दहिया कश्यप राठौड शाखा मारवाड में जोधपुर
89 जेठवा कश्यप हनुमानवंशी राजधूमली काठियावाड
90 पांड्य अत्रय चन्द अब इस वंश का पता नहीं
90 पठानिया पाराशर वनाफ़रशाखा पठानकोट राजा पंजाब
91 भैंसोलिया वत्स चौहान भैंसोल गाग सुल्तानपुर
92 चन्दोसिया भारद्वाज वैस सुल्तानपुर
93 चौपटखम्ब कश्यप ब्रह्मक्षत्रिय जौनपुर
94 जायस कश्यप राठौड की शाखा रायबरेली मथुरा
95 जरोलिया व्याघ्रपद चन्द्र बुलन्दशहर
96 जसावत मानव्य कछवाह शाखा मथुरा आगरा
97 जोतियाना कश्यप कछवाह मुजफ़्फ़रनगर
98 घोडेवाहा मानव्य कछवाह शाखा लुधियाना होशियारपुर जालन्धर
99 कछनिया शान्डिल्य ब्रह्मक्षत्रिय अवध के जिलों में
100 काकन भृगु ब्रह्मक्षत्रिय गाजीपुर आजमगढ
102 उदमतिया वत्स ब्रह्मक्षत्रिय आजमगढ गोरखपुर
103 भाले वशिष्ठ पंवार अलीगढ
104 भालेसुल्तान भारद्वाज वैस रायबरेली लखनऊ उन्नाव
105 जैवार व्याघ्र तंवर दतिया झांसी बुन्देलखंड
106 सरगैयां व्याघ्र सोमवंश हमीरपुर बुन्देलखण्ड
107 किसनातिल अत्रय तोमरशाखा दतिया बुन्देलखंड
108 टडैया भारद्वाज सोलंकीशाखा झांसी ललितपुर बुन्देलखंड
109 खागर अत्रय यदुवंश शाखा जालौन हमीरपुर झांसी
110 निर्वाण वत्स चौहान राजपूताना (राजस्थान)
111 जाटू व्याघ्र तोमर राजस्थान,हिसार पंजाब
112 नरौनी मानव्य कछवाहा बलिया आरा
113 भनवग भारद्वाज कनपुरिया जौनपुर
114 गिदवरिया वशिष्ठ पंवार बिहार मुंगेर भागलपुर
115 बघेल कश्यप सूर्य रीवा राज्य में बघेलखंड
116 कटारिया भारद्वाज सोलंकी झांसी मालवा बुन्देलखंड
117 रजवार वत्स चौहान पूर्व मे बुन्देलखंड
118 द्वार व्याघ्र तोमर जालौन झांसी हमीरपुर
119 इन्दौरिया व्याघ्र तोमर आगरा मथुरा बुलन्दशहर
120 छोकर अत्रय यदुवंश अलीगढ मथुरा बुलन्दशहर
121 जांगडा वत्स चौहान बुलन्दशहर पूर्व में झांसी
122 राठौर शान्डिल्य सूर्य सीतामढ़ी,हाजीपुर,मारवाड़


द्वारा - सुश्री शिखा सिंह 




41 comments:

  1. लोहथम्भ (लोहतमिया) भारद्वाज सूर्य वंश आरा बलिया गाजीपुर

    ReplyDelete
    Replies
    1. रैकवार तो केवट/निषाद जाति मे आते है

      Delete
    2. रैकवार तो अच्छे राजपूत गिने जाते है। शायद राठौर वंश से है।

      Delete
  2. रैकवार में वशिष्ठ गोत्र भी हैं बिहार के बक्सर ज़िले में एवं ये राठौर के शाखा हैं।

    ReplyDelete
  3. कृप्या बिष्टजाती जो नेपालके दार्चुला और बैतडी जिला लगायत अन्य जगहपर रहने वालौके सम्वन्धमे जिसको जो भि जानकारी है लिखे।

    ReplyDelete
  4. Present time me har koi rajput me milna chahta he
    Qki eska nam kafee had tk prasidhdh ho chuka hw

    ReplyDelete
  5. Jin jin vansho ne rajya kiya he real rajput bo hi he baaki to naam me hi pagla rahe he
    Qki provlm ek or he bo he rajputo me ladkiyo ki kami isliye bo bahla fusla kr ki tum vi rajput ho kahkar un logo me restedari suru kr diye he
    Jisse inka khoon ganda hone lga he
    Milavat

    ReplyDelete
  6. Khichdi ho gaya he re brahmin rajput he gadariya rajput he kachhi rajput he lodhi rajput he goojar rajput he ye tomar bhati jhala devra pawar aur raghuwansi ye sb rajput he
    Bastbikta me ye sab alag alag jatiya he
    Khichdi kr deya re gangu
    Chl hurt re madrbhagat

    ReplyDelete
  7. अत्यंत सराहना योग्य सद्प्रयास के लिये कोटिश:
    नमन ।दिनेश प्रताप सिंह गौर बीहट गौर सीतापुर

    ReplyDelete
  8. कृपया मुझे *सुरवार राजपूत-गर्ग गोत्र-वंश सूर्य-कठियावाड़ के बारे में कुछ विस्तार से बताएँ. क्या इन्हें सूर्यवंशीय क्षत्रिय कहना उचित होगा?
    बताने के लिए हम आपके आभारी होंगे.

    श्री राजेश सिंह
    देवरिया,उत्तर प्रदेश।

    ReplyDelete
    Replies
    1. सुरवार गौड या गौर सूर्यवंशी राजपूतों की उपशाखा है। बिहार झारखंड में है।

      Delete
  9. जिसने भी यह लेख लिखा है गलत लिखा है
    मालुम हो कि सभी बघेलो के गोत्र भारद्वाज है
    कृपया इसे सुधारें फिर अपलोड करें

    ReplyDelete
    Replies
    1. बिलकुल सही कहा आपने

      Delete
  10. जिसने भी यह लेख लिखा है गलत लिखा है
    मालुम हो कि सभी बघेलो के गोत्र भारद्वाज है
    कृपया इसे सुधारें फिर अपलोड करें

    ReplyDelete
  11. यह गलत लेख लिखा है !कृपया इसे सुधार लें।क्योंकि जरोरिया नाम का कोई वंश नहीं है
    यह गौर या गौड़ वंश के लोग हैं जो बुलन्दशहर में रहते हैं।जिन्हें यहाँ जड़ोलिया नाम से जाना जाता है।क्योंकि जाड़ोल नामक स्थान पर राजस्थान से आये हुए गौड़ वंशजों से उत्पन्न हैं। जोकि १३००-१४०० ईसवी में यहाँ आये थे।



    ReplyDelete
    Replies
    1. झाडोल उदयपुर के पास है। लेकिन यहाँ गौडों का राज नहीं रहा है। आप इनके बारे में विस्तार से जानकारी देवें।

      Delete
  12. अति सुंदर और ज्ञानवर्धक पोस्ट
    धन्यवाद

    ReplyDelete
  13. रैकवार तो निषाद/केवट जाति मे आते है

    ReplyDelete
  14. bahut sahi chhatriya vansh ka .....

    ReplyDelete
  15. Mer/mihir/merwada-rajsakha, keshwala, chavda, chouhan, parmar etc. Kshatriya vansh ke bare me batayein

    ReplyDelete
  16. I am Devendra Singh belong to rajasthani/gujarati culture

    ReplyDelete
    Replies
    1. Kripya ambedkar nagar me rautar ,sandilya gotra ke bare me jankari de Indra pal sinfh

      Delete
    2. Kripya ambedkar nagar me rautar ,sandilya gotra ke bare me jankari de Indra pal sinfh

      Delete
  17. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  18. Balendu's are also kshatriya. Found in vindhya region.

    ReplyDelete
  19. क्या राजपूतौं मे राघव वंश के राजपूत भी होते हैं क्या ।

    ReplyDelete
    Replies
    1. राघव मूलतः प्रतिहार है।

      Delete
  20. राणावत राजपूत

    ReplyDelete
    Replies
    1. राणावत राजपूत का इतिहास

      Delete
  21. जय राजपूताना यूनिटी, बहुत-बहुत धन्यवाद इस शोध के लिए आप सभी को

    ReplyDelete
  22. पचौरियों के बारे में बताइये

    ReplyDelete

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...