शोभना सम्मान-2012

Sunday, August 12, 2012

''राजपूतों की उपाधियाँ''


''राजपूतों की उपाधियाँ''

1. ठाकुर-- जिसके माता-पिता, दादा-दादी, सभी स्वर्गवासी हो चुके हैं और वह अपनी जमीन जायदाद का स्वयं स्वामी होता है. ठाकुर का अर्थ स्वामी होता है,मंदिर की मूर्तियाँ भी ठाकुर जी ही कहलाती हैं.

२. कुंवर-- जिसके माता-पिता में से कोई एक या दोनों जीवित हों.

३. भंवर-- जिसके दादा-दादी में से कोई एक या दोनों जीवित हों.

४. टवर -- जिसके परदादा या परदादी में से कोई एक या दोनों जीवित हों

आप अपनी स्तिथि के अनुसार उपाधि प्रयोग कर सकते हैं...कुंवर अमित सिंह

2 comments:

  1. आप अपनी स्तिथि के अनुसार उपाधि प्रयोग कर सकते हैं...कुंवर अमित सिंह

    ReplyDelete
  2. सार्थक जानकारी...

    ReplyDelete

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...